फिटनेस की परीक्षा लेनेवाले यात्रा ठिकाने
22 Aug 2017
आपकी फिटनेस की असली परीक्षा पहाड़ों पर ट्रेकिंग के दौरान ही होती है. और यदि आसपास प्राकृतिक सुंदरता बिखरी हो तो आप अपनी अपनी शारीरिक क्षमता को पूरी तरह आजमा सकते हैं. हम आपको भारत की ऐसी ही जगहों का पता बता रहे हैं. रूपकुंड, उत्तराखंड अछूते जंगलों, कलकल करती छोटी-छोटी नदियों से गुलजार रूपकुंड कैंपिंग करने के लिए बिल्कुल उयुक्त जगह है. लेकिन यह जगह सामूहिक कब्रगाह जैसी भी नजर आती है. यहां की रहस्यमयी झील, जिसमें हमेशा बर्फ जमी रहती है, में बहुत सारे स्केलेटन (कंकाल) समाए हुए हैं, तकरीबन 600. ये कंकाल 850 ईस्वी के हैं और इनकी खोज वर्ष 1942 में ब्रिटिशर्स द्वारा की गई थी. इन स्केलेटन्स के पास से अंगूठियां, भाले, चमड़े के जूते और बांस के डंडे पाए गए थे, जिससे विशेषज्ञों ने यह माना कि ये तीर्थयात्रियों का एक काफिला था, जो स्थानीय लोगों की सहायता से घाटी की ओर बढ़ रहा था. ट्रैक का रास्ता और यहां आयोजित होनेवाली वार्षिक राजजात यात्रा का रास्ता एक जगह आकर मिलता है, ये गढ़वाली लोगों की जीवनशैली व रिवाजों को देखने का एक बेहतरीन अवसर प्रदान करता है. ऊंचाईः 16,000 फीट, आपकी यात्राः 8 दिनों की, सर्वश्रेष्ठ समयः मई से जून तक और सितंबर से अक्टूबर, कठिनाई का स्तरः मध्यम कुदरेमुख, कर्नाटक कुदरेमुख दक्षिण भारत का सबसे लोकप्रिय ट्रेकिंग रूट है. ये तुंग, भद्रा और नेत्रवती नदियों के अलावा कदम्बी जलप्रपात से भी घिरा हुआ है. यहां का नैशनल पार्क अपनी बायोडाइवर्सिटी (अलग-अलग तरह के जीव-जंतुओं और पौधों) के लिए जाना जाता है. ये पर्यावरण संरक्षण के लिहाज से यूनेस्को द्वारा चुने गए 34 स्थलों में से एक है. कुदरेमुख में 13 ट्रेकिंग रूट्स हैं, जिसमें से 40 किलोमीटर वाला सबसे कठिन ट्रैक है. चूंकि ये सुरक्षित जंगल क्षेत्र है अतः यहां रात में ठहरने पर पाबंदी है. ऊंचाईः 6,214, आपकी यात्राः 1 दिन की, सर्वश्रेष्ठ समयः अक्टूबर से मई तक, कठिनाई का स्तरः मध्यम से मुश्कलि वैली ऑफ फ्लावर्स, उत्तराखंड यह वैली 10 किलोमीटर लंबी है. बारिश के मौसम में पूरी वैली में खूबसूरत प्राकृतिक फूल खिलते हैं और ये अलग-अलग प्रकार के विभिन्न फूलों से भर जाती है. यहां कुछ स्नो लेक्स और ग्लेशियर्स भी हैं. ऊंचाईः 11,811 फीट, आपकी यात्राः 5-6 दिनों की, सर्वश्रेष्ठ समयः जुलाई से अगस्त, कठिनाई का स्तरः आसान गोएचा ला, सिक्किम गोएचा ला ट्रैक की शुरुआत युक्सोम से होती है, जो सिक्किम की पूर्व राजधानी थी. यह ट्रैक हरियाली, जंगल, घास और बुरुंश के फूलों से भरे मैदान व चट्टानी भूमि से भरपूर है-यहां से आप कंचनजंगा के अद्भुत दृश्य देख सकती हैं. गोएचा ला ट्रैक से आप कई खूबसूरत दृश्य, जैसे-वैली ऑफ थैनसिंग और अनूठा बैकहिम गांव भी देख सकते हैं. ऊंचाईः 16,240, आपकी यात्राः 10 से 15 दिनों की, सर्वश्रेष्ठ समयः जून से अक्टूबर तक, कठिनाई का स्तरः मध्यम

अन्य खबर