न गंदगी करूंगा, न करने दूंगा: योगी आदित्यनाथ
03 Oct 2017
लखनऊ, 03 अक्टूबर (धर्म क्रान्ति)। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) ने सोमवार 2 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम का समापन तथा स्वच्छता मैराथन का आयोजन किया। इस मौके पर लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा वाराणसी में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना ने स्वच्छता मैराथन को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी स्वच्छता ही सेवा की टोपी लगाकर प्रदेशवासियों को यूपी को स्वच्छ रखने का आह्वान किया। कहा कि स्वच्छता ही सेवा है। इसमें हम सभी जन भागीदारी करें। कहा कि गांधी जी ने अंग्रेजों भारत छोड़ो आन्दोलन की शुरुआत की और 1947 में भारत को आजाद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया और सफल हुये। कहा कि हमलोग भी 2017 से 22 तक कैसा भारत चाहते हैं, इसका संकल्प लें और उसे पूरा करने में अपनाकृअपना योगदान करें। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने हर सप्ताह दो घण्टे श्रमदान करने की शपथ दिलाई। सीएम ने कहा कि न खुद गंदगी करूंगा और न किसी को करने दूंगा। कहा कि गांव-गांव तक स्वच्छ भारत मिशन को पहुंचाना समय की मांग है। इस मौके पर भाजपा कार्यकर्ताओं समेत सैकड़ों लोग मैराथन में शामिल हुए। पटेल प्रतिमा से आयोजित ये स्वच्छता मैराथन राजभवन और जीपीओ होते हुए गांधी प्रतिमा तक पहुंचकर समाप्त हुई। प्रतिभागियों ने स्वत्छता मैराथन लिखा सफेद टी-शर्ट व टोपी पहने हुये थे। मुख्यमंत्री ने गांधी जी के साथ पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को भी नमन किया। राजधानी के अलावा हर जिले में होने वाली इस मैराथन में योगी सरकार के मंत्रियों के साथ सांसद और विधायकों व पार्टी के पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई। आगरा में मंत्री श्रीकांत शर्मा, वाराणसी में मंत्री सुरेश खन्ना शामिल हुए। बीजेपी स्वच्छता मैराथन अभियान कार्यक्रम के बारे में प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ल ने बताया कि प्रदेश में नगरीय क्षेत्र के 653 स्थानीय निकाय, नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत के 8500 वार्ड हैं। जहां 17 सितम्बर से स्वच्छता अभियान कार्यक्रम चलाया जा रहा है। 2 अक्टूबर को इस अभियान का समापन हो गया। इसके पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महात्मा गांधी तथा सरदार पटेल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया। इस दौरान डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पांडेय, मंत्री गोपाल टंडन, पंकज सिंह भी मौजूद रहे।

अन्य खबर