बीएसएफ शिविर पर आत्मघाती हमले में एएसआई शहीद, 3 आतंकी ढेर
04 Oct 2017
श्रीनगर, 04 अक्टूबर (धर्म क्रान्ति)। कड़ी सुरक्षा वाले श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास स्थित बीएसएफ के एक शिविर पर आतंकवादियों ने आज तड़के आत्मघाती हमला किया। हमले में सुरक्षा बल के एक सहायक उप निरीक्षक शहीद हो गए और चार अन्य सुरक्षाकर्मी घायल हुए हैं। सुरक्षा बलों की गोलीबारी में दो आतंकवादी मारे गए। गोलीबारी के कारण थोड़ी देर के लिए हवाई अड्डे पर विमानों की आवाजाही रोकनी पड़ी और आस-पास स्थित स्कूलों को भी बंद कर दिया गया। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों के एक समूह ने कड़ी सुरक्षा वाले श्रीनगर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के द्वार के बाहर स्थित बीएसएफ के शिविर पर आज सुबह चार बजे हमला किया था। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि आतंकवादी कितने थे। अधिकारियों ने बताया कि हमले में अभी तक तीन आतंकवादियों को मार गिराया जा चुका है। वहीं बीएसएफ के एक जवान बीके यादव की गोली लगने से जान चली गई। अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी में बीएसएफ के तीन कर्मी घायल हो गए। सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी के आवास की रखवाली कर रहा एक पुलिसकर्मी भी गोली लगने से घायल हो गया। उन्होंने बताया कि दोनों ओर से रुक-रुक कर गोलियां चल रही हैं। बीएसएफ अधिकारियों ने बताया कि आतंकवादी 182वीं बटालियन के शिविर के परिसर की एक इमारत में छिपे हुए थे। गोलीबारी के चलते आज सुबह हवाई अड्डे पर विमानों की आवाजाही रोक दी गई थी लेकिन बाद में सुरक्षा बलों द्वारा इमारत (जहां आतंकवादी छुपे हैं) के आस-पास की स्थिति नियंत्रण में लेने के बाद विमानों का संचालन बहाल कर दिया गया। भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण (श्रीनगर) के निदेशक शरद कुमार ने कहा, ‘‘विमानों का संचालन बहाल कर दिया गया है और यात्री विमानों में सवार हो रहे हैं।’’ बीएसएफ की 182वीं बटालियन पर श्रीनगर हवाई अड्डे के रनवे की सुरक्षा का जिम्मा है। शिविर के निकट पुराना श्रीनगर वायु क्षेत्र है जिसका परिचालन भारतीय वायुसेना करती है। इलाके में बीएसएफ और सीआरपीएफ के प्रशिक्षण केंद्र भी हैं। हवाई अड्डे के आस-पास स्थित स्कूलों को बंद कर दिया गया है। आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने हमले की जिम्मेदारी ली है। खुद को संगठन का प्रवक्ता बताने वाले एक शख्स ने स्थानीय समाचार एजेंसियों को फोन कर कहा कि हमला जैश के आतंकियों ने किया है।

अन्य खबर