कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर भगदड़ में तीन महिलाओं की मौत, नीतीश ने व्यक्त किया दुख
04 Nov 2017
बेगूसराय, 04 नवंबर (धर्म क्रान्ति)। बिहार में बेगूसराय जिले के चकिया थाना क्षेत्र के सिमरिया घाट पर कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर स्नान के दौरान मची भगदड़ में शनिवार को तीन महिलाओं की मौत हो गई तथा 12 से अधिक लोग घायल हो गए। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हादसे में तीन महिलाओं की मौत पर गहरा दुख व्यक्त किया है। पुलिस उपाधीक्षक (सदर) मिथिलेश कुमार ने यहां बताया कि कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर सिमरिया घाट पर लोग गंगा नदी में स्नान कर रहे थे तभी अचानक भगदड़ मच गई। इस दुर्घटना में तीन महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 12 से अधिक लोग घायल हो गए। कुमार ने बताया कि मृतकों की तत्काल पहचान नही की जा सकी है। घायलों को बेगूसराय सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचकर कैंप कर रहे हैं। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने शोक संदेश में इस घटना को अत्यंत दुखद बताया और मृत लोगों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने दुख की इस घड़ी में मृतक के शोक संतप्त परिजनों को धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। कुमार ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपए अनुदान राशि देने का निर्देश दिया है। उन्होंने हादसे में घायलों का नि.शुल्क समुचित इलाज कराने का निर्देश दिया है। साथ ही उनके शीघ्र स्वस्थ होने की ईश्वर से कामना की है। उन्होंने जिला प्रशासन एवं पुलिस को सिमरिया घाट की व्यवस्था को कड़ी निगरानी में चुस्त-दुरूस्त रखने का निर्देश दिया।

अन्य खबर