दलाई लामा की 12 दिवसीय पूर्वोत्तर यात्रा आज से शुरू

गुवाहाटी, 01 अप्रैल ((धर्म क्रांति)। तिब्बतियों के धार्मिक नेता दलाई लामा अपनी 12 दिवसीय पूर्वोत्तर यात्रा के मद्देनजर आज यहां पहुंचे। दलाई लामा की 12 दिवसीय पूर्वोत्तर यात्रा आज से शुरू हो गयी है। अपनी इस यात्रा के दौरान वह डिब्रूगढ़ (असम) और अरुणाचल प्रदेश के तवांग, बोमडिला और ईटानगर सहित कई स्थानों का दौरा करेंगे। नोबेल शांति पुरस्कार विजेता आज यहां ट्रिब्यून समूह प्रकाशन के द असम ट्रिब्यून के प्लैटिनम और दैनिक असोम अखबार के स्वर्ण जयंती उत्सव के समापन पर विश्व शांति के लिए एक मानवीय दृष्टिकोण पर भाषण देने के साथ ही आज पूर्वोत्तर भारत की 12 दिवसीय यात्रा शुरू करेंगे। अपनी यात्रा के दूसरे दिन वह गुवाहाटी में रूकेंगे। वह असमिया भाषा में अनुवाद की गयी अपनी आत्मकथा माय लैंड एंड माई पीपल जारी करेंगे और आधुनिक समय में प्राचीन भारतीय ज्ञान विषय पर सार्वजनिक व्याख्यान देंगे। यह कार्यक्रम राज्य की कृष्ण कांता हांडिक स्टेट ओपन यूनिवर्सिटी और शहर में लॉयर बुक स्टॉल के द्वारा आयोजित किया गया है। वह उसी दिन शहर में चल रहे नमामि ब्रह्मपुत्र समारोह में भी भाग लेंगे। अरुणाचल प्रदेश की ओर जाने से पहले वह तीन अप्रैल को डिब्रूगढ़ में एक ओर व्याख्यान देंगे। राज्य में कई धार्मिक और अन्य मंडलियों को संबोधित करने के बाद 12 अप्रैल को ईटानगर में दलाई लामा की पूर्वोत्तर भारत की यह यात्रा समाप्त होगी।