पाकिस्तानी पत्नी को भारत लाने के लिए कर्नाटक निवासी ने विदेश मंत्री से मांगी मदद

नई दिल्ली/लाहौर, 05 अप्रैल (धर्म क्रांति)। लाहौर में पेंटेकोस्टल चर्च में डेनियल हेनरी डेवानूर ने अपनी प्रेमिका सिल्विया नोरीन से शादी की। अब दंपति एक साथ रहने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। डेनियल अपनी पत्नी को वापस भारत लाने के लिए एड़ी चोटी का जोड़ लगा रहा है। सिल्विया पाकिस्तानी नागरिक है और पत्नी के लिए स्पॉन्सरशिप सर्टिफिकेट पाने में डेनियल असमर्थ है। अन्य प्रयासों के साथ डेनियल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट कर मदद मांगी। सिल्विया को भारत लाने के लिए डेनियल को एक गैजेटेड ऑफिसर से हस्ताक्षर कराना होगा। डेनियल ने बताया, सिल्विया मेरी मां की ओर से दूर की रिश्तेदार है। मेरी मां का परिवार मूल रूप से पश्चिम बंगाल का है और बंटवारे के पहले वे लाहौर में रहते थे। मैं उससे 2014 में मिला और 25 जून 2016 को शादी कर ली। डेनियल अकेले ही पाकिस्तान चले गए क्योंकि उनके परिवार के पास पासपोर्ट नहीं था और सिल्विया के परिवार की उपस्थिति में लाहौर के चर्च में ही शादी कर ली। इसके बाद पाकिस्तान की अदालत में शादी रजिस्टर करा लिया। कुछ दिनों बाद डेनियल पत्नी को भारत लाने के लिए वापस आए और तब से इसके लिए संघर्ष कर रहे हैं। डेनियल ने बताया, मैं स्थानीय तहसीलदार, पूर्व नगरसेवक, विधायक प्रहलाद जोशी व भारतीय दूतावास के अधिकारियों से भी मिलाप् सभी गैजटेड ऑफिसर को स्पांसरशिप सर्टिफिकेट पर हस्ताक्षर करना था लेकिन जब भी मैं उनसे मिला तो उनका कहना था कि इसके लिए उन्हें अपने सीनियर से बात करनी होगी। इसलिए मैंने सुषमा स्वराज को ट्वीट किया क्योंकि इस तरह के मामलों में पहले उन्होंने कईयों की मदद की है। हुब्बाली में डेनियल का परिवार अपनी बहू का इंतजार कर रहा है क्योंकि वे शादी में नहीं शरीक हो पाए थे और उन्होंने भारत में रिसेप्शन पार्टी की योजना बना रखी थी। सांसद प्रहलाद जोशी ने मीडिया को इस बात की पुष्टि की कि उन्होंने डेनियल से बात किया था। जोशी ने बताया कि डेनियल की मदद के लिए एक पत्र विदेश मंत्री को भेज दिया गया है।