जम्मू एवं कश्मीर में बाढ़, हिमस्खलन में 2 जवानों सहित 6 की मौत

जम्मू/श्रीनगर, 07 अप्रैल (धर्म क्रांति)। जम्मू एवं कश्मीर में मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ व हिमस्खलन में दो जवानों सहित छह लोगों की मौत हो गई। प्रशासन ने शुक्रवार को घाटी में बाढ़ की घोषणा की। बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुख्य इंजीनियर मुहम्मद हनीफ लोन ने संवाददाताओं के बताया, झेलम नदी में आज (शुक्रवार) सुबह आठ बजे अनंतनाग के संगम में जलस्तर 21.50 फुट रहा, जबकि श्रीनगर के राम मुंशीबाग में 20.20 फुट रहा। लोन ने कहा, इन दोनों स्थानों पर जलस्तर बाढ़ के स्तर से ऊपर है। इसके मद्देनजर राज्य सरकार ने घाटी में बाढ़ की घोषणा कर दी है और इस संदर्भ में सभी आपातकालीन प्रबंध कर लिए गए हैं। चीफ इंजीनियर ने कहा कि शुक्रवार से घाटी में मौसम में सुधार हो सकता है। लेकिन घाटी की नदियों और झरनों में जलस्तर बढ़ना जारी रहने के आसार हैं, जिसे ध्यान में रखते हुए निचले क्षेत्रों और नदियों के किनारों पर रह रहे लोगों को चौकस रहने की हिदायत दी गई है। बटालिक सेक्टर में हुए हिमस्खलन की चपेट में सेना के पांच जवान आ गए, जिसमें दो की जान चली गई, जबकि एक अन्य लापता हैं। दो जवानों को बचा लिया गया है। सेना के उत्तरी कमान के उधमपुर मुख्यालय ने बताया कि बटालिक में हुए हिमस्खलन की चपेट में पांच जवान आ गए थे, जिनमें से दो को बचा लिया गया। लेकिन तीन अन्य लापता हो गए। इनमें से दो की मौत हो गई, जबकि एक अब भी लापता हैं। उनकी तलाश की जा रही है। लद्दाख क्षेत्र के कारगिल जिले में गुरुवार को हिमस्खलन में एक पिता और उसके बेटे की मौत हो गई। जम्मू क्षेत्र के राजौरी जिले में बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई और उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 10 साल की एक बच्ची की डूबने से मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि बच्ची का शव बहते हुए दूर चला गया। बचाव दलों ने उसके शव को डूबने के स्थान से दो किलोमीटर दूर बरामद किया। अनंतनाग जिले के ब्रेंगी पहाड़ी श्रृंखला के झरने में गुरुवार को एक वाहन गिर गया था, लेकिन उसके पांच यात्रियों को बचा लिया गया। हालांकि, इस वाहन में सवार दो अन्य यात्री अब भी लापता हैं। सेना ने जम्मू क्षेत्र के पुंछ जिले में गुरुवार को बाढ़ में फंसे 17 लोगों को बाहर निकालने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया। राज्य में मूसलाधार बारिश और बाढ़ की वजह से दर्जनभर घर आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं। जम्मू के रियासी में गुरुवार को एक घर के ढहने से 40 भेड़ें मर गईं। उत्तरी कश्मीर के बारामूला जिले में कई गांवों में पानी घुस गया है। श्रीनगर में मैसूमा, करण नगर, बमिना, बटमालू, वजीर बाग, राजबाग, मेहजूर नगर, चानापोरा सहित कई आवासीय एवं व्यावसायिक क्षेत्रों के कई लोगों ने घरों में पानी घुसने की शिकायत की है। बुडशाह चौक, जहांगीर चौक और रीगल चौक क्षेत्र में दो फुट से अधिक पानी जमा हो गया जिससे यातायात बाधित हो गया। प्रशासन ने सोमवार तक घाटी में सभी स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए हैं। रामबन जिले में भूस्खलन और बनिहाल सेक्टर में ताजा बर्फबारी की वजह से जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन भी बंद रहा। श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे से आने-जाने वाली विभिन्न एयरलाइंस की कई उड़ान सेवाओं को खराब दृश्यता और खराब मौसम की वजह से रद्द कर दिया गया।