आईपीएल 10: सैमसन का शानदार शतक, दिल्ली ने पुणे को रौंदा

पुणे, 12 अप्रैल (धर्म क्रांति )। संजू सैमसन के करियर के पहले टी-20 शतक के बाद कप्तान जहीर खान की अगुआई में गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग में यहां राइजिंग पुणे सुपरजाइंट को 97 रन से हराकर मौजूदा सत्र की पहली और आईपीएल इतिहास की अपनी सबसे बड़ी जीत दर्ज की। सैमसन ने आईपीएल 10 के पहले शतक के दौरान 63 गेंद का सामना करते हुए आठ चौकों और पांच छक्कों की मदद से 102 रन बनाए जबकि क्रिस मौरिस ने नौ गेंद में चार चौकों और तीन छक्कों की बदौलत नाबाद 38 रन बनाए जिससे टीम चार विकेट पर 205 रन का अपना तीसरा सर्वोच्च स्कोर खड़ा करने में सफल रही। पुणे की टीम इसके जवाब में जहीर (20 रन पर 3 विकेट), अमित मिश्रा (11 रन पर 3 विकेट) और पैट कमिंस (24 रन पर दो विकेट) की बेहतरीन गेंदबाजी के सामने 16.1 ओवर में 108 रन पर ढेर हो गई। इससे पहले दिल्ली की सबसे बड़ी जीत राजस्थान रायल्स के खिलाफ थी जिसे मार्च 2010 में उसने फिरोजशाह कोटला पर 67 रन से हराया था। पुणे की टीम की भी यह आईपीएल में रनों के लिहाज से सबसे बड़ी हार है। लक्ष्य का पीछा करने उतरी पुणे की शुरूआत खराब रही। कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे 10 रन बनाने के बाद जहीर की गेंद पर सैमसन को कैच दे बैठे। जहीर ने इसके बाद सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल (20) को भी मौरिस के हाथों कैच कराया। मौरिस ने छठे ओवर में राहुल त्रिपाठी (10) को पैवेलियन भेजकर टीम का स्कोर तीन विकेट पर 49 रन किया। बायें हाथ के स्पिनर शाहबाज नदीम ने फाफ डु प्लेसिस (08) को विकेटकीपर रिषभ पंत के हाथों कैच कराके पुणे को चौथा झटका दिया। जबकि बेन स्टोक्स भी दो रन बनाने के बाद कमिंस की गेंद पर विकेट के पीछे कैच दे बैठे। पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी 11 रन बनानने के बाद मिश्रा की गेंद पर डीप मिडविकेट पर करुण नायर को कैच दे बैठे जबकि इस लेग स्पिनर ने अगले ओवर में रजत भाटिया (16) को भी पैवेलियन भेजा। दीपक चाहर (14) ने कमिंस पर लगातार दो छक्के मारे लेकिन जहीर ने उन्हें पंत के हाथों कैच करा दिया। पुणे की टीम के 100 रन 14वें ओवर में पूरे हुए। मिश्रा ने इसके बाद एड्म जंपा (05) को सैमसन के हाथों कैच कराया जबकि कमिंस ने अशोक डिंडा (07) को मिश्रा के हाथों कैच कराके पुणे की पारी का अंत किया। इससे पहले सैमसन ने शतकीय पारी खेलने के अलावा सलामी बल्लेबाज सैम बिलिंग्स (24) के साथ दूसरे विकेट के लिए 69, रिषभ पंत (31) के साथ तीसरे विकेट के लिए 51 और कोरी एंडरसन (नाबाद 02) के साथ चौथे विकेट के लिए 42 रन की साझेदारी करके डेयरडेविल्स के बड़े स्कोर का मंच तैयार किया। एंडरसन की चौथी और पांचवें विकेट की साझेदारी में 81 रन बने लेकिन इसमें उनका योगदान सिर्फ दो रन का रहा। पेट की गड़बड़ी के कारण स्टीव स्मिथ के बाहर होने पर टीम की अगुआई कर रहे रहाणे ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। दीपक चाहर ने दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर आदित्य तारे (00) को विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच करा दिया लेकिन इसके बाद कुछ भी पुणे की टीम के पक्ष में नहीं रहा। बिलिंग्स और सैमसन ने पारी को संभाला। दोनों ने पावर प्ले में टीम का स्कोर एक विकेट पर 62 रन तक पहुंचाया जो 5 साल में पहले छह ओवर में टीम का सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। सैमसन ने शुरू से ही आक्रामक रवैया अपनाया। उन्होंने चाहर पर लगातार दो चौकों से खाता खोलने के बाद आशोक डिंडा पर भी लगातार दो चौके मारे। बिलिंग्स ने भी छठे ओवर में चाहर पर 3 चौके मारे।