ईवीएम से पर्ची निकलने की व्यवस्था को कैबिनेट की हरी झंडी

नई दिल्ली, 19 अप्रैल (धर्म क्रांति)। अब जल्दी ही विभिन्न चुनावों में मतदान मशीन के साथ पर्ची निकलने की व्यवस्था भी बड़े स्तर पर शुरू हो सकेगी। बुधवार को केंद्र सरकार ने चुनाव आयोग के इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। अब तक प्रयोग के तौर पर चल रही इस व्यवस्था को व्यापक स्तर पर लागू किया जा सकेगा। बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में केंद्र सरकार ने ईवीएम के साथ पर्ची निकलने की व्यवस्था के लिए धन को मंजूरी दे दी। इस वोटर वैरिफायेबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) व्यवस्था में मतदान की मुख्य मशीन यानी ईवीएम के साथ ही एक प्रिंटर युक्त मशीन भी लगाई जाती है। वोटर जब ईवीएम का बटन दबाता है तो उसके बाद उसकी ओर से चुने गए चुनाव चिह्न की पर्ची निकल कर सामने आती है। इसे देख कर वह आश्वस्त हो सकता है कि उसने जो बटन दबाया था, वोट उसी को गया है। यह पर्ची कुछ सेकेंड के लिए दिखाई देती है, उसके बाद वह उसके नीचे बने बक्से में गिर जाती है। इस बक्से में सभी पर्चियां जमा होती रहती हैं। कोई विवाद होने पर पुराने मतपत्रों के अंदाज में इसकी गिनती की जा सकती है। केंद्रीय चुनाव आयोग चाहता है कि वर्ष 2019 में होने वाले अगले लोकसभा चुनाव में सभी मतदान केंद्रों पर इसे लागू किया जाए। अभी तक यह सिर्फ प्रयोग के तौर पर कुछ मतदान केंद्रों पर ही उपयोग में लाया जा रहा था। एक बार धन मिल जाने के बाद इसे देश भर में लागू किया जा सकेगा।