दलाई लामा ने फ्रांस के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति को बधाई दी

धर्मशाला, 09 मई (धर्म क्रान्ति)। तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा ने फ्रांस के राष्ट्रपति पद का चुनाव जीतने के लिए एमानुएल मैक्रों को सोमवार को बधाई दी। फ्रांस के नए राष्ट्रपति को लिखे एक खत में साल 2016 में उनके साथ हुई मुलाकात को याद करते हुए दलाई लामा ने लिखा, बीते साल सितंबर में पेरिस में आपसे मुलाकात करना मेरे लिए सम्मान की बात थी। उस वक्त आपने जो भावनाएं व्यक्त की थीं, मैं उसकी बेहद कद्र करता हूं। उन्होंने लिखा, पिछले कुछ वर्षो में आपके देश के दौरे के दौरान सभी क्षेत्रों के लोगों द्वारा मुझे अपार स्नेह तथा प्रेम मिला। इस बात का उल्लेख करते हुए कि वह यूरोपीय संघ के प्रशंसक हैं और व्यापक समुदायों के दीर्घकालिक साझा हितों को राष्ट्रीय व अन्य स्थानीय चिंताओं से आगे रखते हुए उम्मीद जताई कि यूरोपीय संघ अधिक मजबूत बनेगा और ऐसा मॉडल बनेगा कि आने वाले वक्त में अन्य महादेश इसे अपनाएंगे। उन्होंने कहा, चूंकि फ्रांस यूरोपीय संघ के स्तंभों में से एक है, इसलिए मुझे विश्वास है कि इसके आगे जो समस्या खड़ी है, उसका सफलतापूर्वक निदान करने में आप सक्रिय भूमिका निभाएंगे केंद्रीय तिब्बती प्रशासन के प्रमुख, लोबसांग सांगय ने भी मैक्रों को बधाई दी। उन्होंने कहा, राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए मैं केंद्रीय तिब्बती प्रशासन की तरफ से आपको हार्दिक बधाई देता हूं। दलाई लामा लगभग 140,000 तिब्बतियों के साथ निर्वासित जीवन जी रहे हैं, जिनमें से 100,000 तिब्बती भारत में रह रहे हैं। यहां स्थित निर्वासित तिब्बती सरकार को किसी देश ने मान्यता नहीं दी है।