समाजवादी पार्टी के संस्थापक उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव
10 Oct 2022, 27
संघर्षों से भरा रहा धरती पुत्र मुलायम सिंह यादव का जीवन, इसी साल पत्नी साधना ने छोड़ा था साथ

लखनऊ।समाजवादी पार्टी के संस्थापक उत्तर प्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव का आज सोमवार 8:16 बजे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती उपचार के दौरान निधन हो गया।बीते कई दिनों से मुलायम सिंह यादव हालत चिंताजनक बनी हुई थी और तबीयत में कोई खास सुधार नहीं हो रहा था,बल्कि हालत लगातार नाजुक होती जा रही थी।इस बीच धरती पुत्र ने आज उपचार के दौरान अंतिम सांंल ली।

इसी साल हुआ था साधना गुप्ता का निधन

आपको बता दें कि इसी साल जुलाई में मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना गुप्ता का निधन हो गया था।उनके फेफड़ों में संक्रमण का इलाज चल रहा था।साधना गुप्ता मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी थीं।पहली पत्नी मालती देवी का 2003 में निधन हो गया था।मालती देवी अखिलेश यादव की मां थीं। ऐसे में सपा संस्थापक का निधन होना सपा के लिए बहुत बड़ा झटका है।

संघर्षों से भरा रहा है धरती पुत्र का जीवन

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई गांव में 22 नवंबर 1939 को मुलायम सिंह यादव का जन्म एक साधारण परिवार में हुआ था। मुलायम सिंह यादव जैन इंटर कॉलेज करहल मैनपुरी में प्रवक्ता के पद पर भी कार्यरत रहे थे। 1967 में 28 वर्ष की अल्पायु में संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के टिकट पर पहली बार जसवंत नगर क्षेत्र से विधानसभा सदस्य चुने गए और वर्ष 1977 में पहली बार राज्य मंत्री बनाए गए। साल 1980 में वे यूपी में लोक दल के अध्यक्ष भी रहे है।

किसान नेता के नाम से भी जाने जाते थे मुलायम सिंह यादव

आम लोगों के बीच मुलायम सिंह यादव किसान नेता, नेताजी और धरती पुत्र जैसे नामों से जाने जाते है।मुलायम सिंह तीन बार यूपी के मुख्यमंत्री रहे है और एक बार देश के रक्षामंत्री का जिम्मा संभाला है।वर्ष 1996 में मुलायम सिंह यादव इटावा के मैनपुरी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा सदस्य बने और उन्हें केंद्रीय रक्षामंत्री निर्वाचित किया था। 1998 में मुलायम सिंह यादव की सरकार गिर गई। हालांकि 1999 में उन्होंने संभल निर्वाचन क्षेत्र से जीत दर्ज की और वे फिर से लोकसभा पहुंचे।



अन्य खबर