ट्रंप 2 दिवसीय दौरे पर दक्षिण कोरिया पहुंचे
08 Nov 2017
सियोल, 08 नवंबर (धर्म क्रान्ति)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप मंगलवार को दो दिवसीय दौरे पर दक्षिण कोरिया पहुंच गए। वह इस दौरान अपने दक्षिण कोरियाई समकक्ष मून जे इन के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। समाचार एजेंसी योनहाप के मुताबिक, ट्रंप का एयरफोर्स वन विमान दक्षिण कोरिया के सियोल से लगभग 70 किलोमीटर दक्षिण में प्योंगटेक में ओसान वायुसेना अड्डे पर उतरा। ट्रंप बीते 25 वर्षो में दक्षिण कोरिया के राजकीय दौरे पर जाने वाले अमेरिका के पहले राष्ट्रपति हैं। ट्रंप पांच एशियाई देशों की यात्रा के दूसरे पड़ाव के तहत सियोल में हैं। यहां पहुंचकर ट्रंप प्योंगेटेक के अमेरिकी वायुसेना अड्डे कैम्प हम्फ्रेज पहुंचे, जहां राष्ट्रपति मून ने उनका स्वागत किया। मून ने दक्षिण कोरिया और अमेरिकी सेनाओं के लिए ट्रंप के साथ भोज की संयुक्त मेजबानी के दौरान कहा, आज एक ऐतिहासिक दिन है क्योंकि ऐसा पहली बार हो रहा है, जब दक्षिण कोरिया और अमेरिका के राष्ट्रपति अपनी सेनाओं को प्रोत्साहित करने के लिए दक्षिण कोरिया में अमेरिकी वायुसेना अड्डे पर एकजुट हुए हैं। उन्होंने कहा, मैं दक्षिण कोरिया और अमेरिका के सभी जवानों की सराहना करना चाहता हूं और उनके प्रति सम्मान जताना चाहता हूं। ऐसा कहा जाता है कि मुसीबत के समय ही सच्चे दोस्तों की पहचान होती है। आप हमारे सच्चे दोस्त हैं, जब दक्षिण कोरिया अपने बुरे दौर से गुजर रहा था तो आपने हमारी मदद की। मून ने कोरिया-अमेरिकी गठबंधन का महत्व बताते हुए इसे सिर्फ कोरियाई प्रायद्वीप में ही नहीं बल्कि पूरे क्षेत्र में शांति और समृद्धि का आधार बताया। समाचार एजेंसी योनहाप ने मून के हवाले से बताया, आप कोरिया-अमेरिका गठबंधन की आधारशिला और भविष्य हैं। आइए एक साथ मिलकर कोरियाई प्रायद्वीप और पूर्वोत्तर एशिया में शांति और समृद्धि की स्थापना करें। ट्रंप ने जवानों की तालियों की गड़गड़ाहट के बीच कहा, सभी को हैलो। अच्छा भोजन है। सभी का धन्यवाद। कैम्प हम्फ्रेज विदेश में अमेरिका का सबसे बड़ा वायुसेना अड्डा है। मौजूदा समय में यहां दक्षिण कोरिया के जवानों के अलावा अमेरिका के लगभग 26,000 जवान, उनके परिवार और नागरिक हैं। ट्रंप को दोपहर की बैठक के बाद सुरक्षा व्यवस्था से अवगत कराया जाएगा। ट्रंप और मून की तीसरी द्विपक्षीय बैठक से पहले राष्ट्रपति पैलेस चेयोंग वा डे पर मंगलवार को ट्रंप के सम्मान में औपचारिक स्वागत कार्यक्रम भी आयोजित होगा। ट्रंप का यह दौरा उत्तर कोरिया के छठे और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण के बाद हो रहा है। उत्तर कोरिया ने इस साल सिलसिलेवार कई मिसाइल परीक्षण किए हैं, जिससे तनाव बढ़ा है। ट्रंप बुधवार को चीन रवाना होने से पहले दक्षिण कोरियाई संसद को संबोधित कर सकते हैं। उनका वियतनाम में एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग (एपेक) सम्मेलन और फिलीपींस में दक्षिणपूर्व एशियाई देशों (आसियान) के सम्मेलन में भी शिरकत करने का कार्यक्रम है।

अन्य खबर