चीन में इंटरनेट पर ‘एन’ अक्षर पर पाबंदी
03 Mar 2018
राष्ट्रपति शी के अलोचकों को रोकने का प्रयास

बीजिंग, 03 मार्च (धर्म क्रान्ति)। हम असहमति यानी अंग्रेजी के डिसेंट शब्द को बिना ‘एन’ अक्षर के नहीं लिख सकते। चीन में ‘एन’ को इंटरनेट पर प्रतिबंधित कर दिया गया है, ताकि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खिलाफ कोई अपनी असहमति न जता पाए। जब से यह घोषणा की गई है कि राष्ट्रपति के कार्यकाल की सीमा को खत्म किया जाएगा यानी शी जिनपिंग अनिश्चितकाल के लिए चीन की सत्ता में बने रहेंगे, तभी से वहां के सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर अपनी असहमति जाहिर की। इसे रोकने के लिए ही कुछ शब्दों, मुहावरों और ‘एन’ शब्द पर अस्थायी तौर पर रोक लगा दी गई है। इसके साथ ही जॉर्ज ऑरवेल के नॉवेल 1984 तथा हाल ही में चर्चा में रहे कार्टून विनी द पू पर भी पाबंदी लगा दी गई है। हालांकि यह खबर भी आई है कि बाद में यह प्रतिबंध हटा लिया गया।

अन्य खबर