भारत-अमेरिकी व्यापार 500 अरब डॉलर तक ले जाना कोई दिवास्वप्न नहीं: जेटली
14 Oct 2017
वॉशिंगटन, 14 अक्टूबर (धर्म क्रान्ति)। भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि भारत-अमेरिका के वार्षिक व्यापार को 500 अरब डॉलर तक ले जाने का लक्ष्य कोई दिवास्वप्न नहीं है, क्योंकि भारत में अमेरिकी कंपनियों को कई तरह के अवसर मुहैया कराए गए हैं। विशेषकर रक्षा और विमानन क्षेत्र में उन्हें बेहतर अवसर दिए गए हैं। जेटली ने कहा कि पिछले कुछ सालों में भारत-अमेरिका के संबंध बहुत मजबूत साझेदारी के रुप में उभरे हैं। साथ ही मिशन-500 जैसे लक्ष्य और इस साझेदारी के विभिन्न पहलुओं पर जोर दिया गया है। उन्होंने कहा, यदि कोई रक्षा और विमानन क्षेत्र में मौजूद अवसरों को ठीक से देखे तो दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार को 500 अरब डॉलर के स्तर तक ले जाना कोई असंभव कार्य नहीं है। जेटली ने यह बात यहां एक प्रश्न के उत्तर में कही। उनसे पूछा गया था कि क्या दोनों देशों के द्विपक्षीय व्यापार को 500 अरब डॉलर तक ले जाया जा सकता है या नहीं।

अन्य खबर