मोदी राज में दोगुना से ज्यादा बढ़ी डेबिट कार्ड धारकों की संख्या
22 Jan 2018
नई दिल्ली, 22 जनवरी (धर्म क्रान्ति)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में देश की बैंकिंग व्यवस्था में तेजी से सुधार हुआ है और देश में डेबिट तथा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। इसके अलावा एटीएम मशीनों की संख्या में करी 26 प्रतिशत और प्वाइंट ऑफ सेल मशीनों (पीओएस) की संख्या में 177 प्रतिशत की जोरदार बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 के दौरान देश में एटीएम मशीनों की संख्या 1,64,491 थी जो नवंबर 2017 में 2,06,703 दर्ज की गई है। इसी तरह मई 2014 में प्वाइंट ऑफ सेल मशीनों की संख्या सिर्फ 10,65,599 थी जो नवंबर 2017 में बढ़कर 29,98,733 तक पहुंच गई है।

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 के दौरान देश में कुल क्रेडिट कार्ड की संख्या 1,93,91,187 थी लेकिन पिछले साल नवंबर में यह आंकड़ा 3,47,75,605 तक पहुंच गया है। देश में सबसे ज्यादा क्रेडिट कार्ड देश के सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी के हैं, नवंबर 2017 में एचडीएफसी बैंक के क्रेडिट कार्ड की संख्या 99,76,842 दर्ज की गई है। इसके बाद सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई का स्थान है, नवंबर 2017 में एसबीआई के क्रेडिट कार्ड धारकों की संख्या 56,41,724 दर्ज की गई है। इसके बाद एक्सिज बैंक और आईसीआईसीआई बैंक का स्थान है।

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 से लेकर नवंबर 2017 तक देश में डेबिट कार्ड धारकों की संख्या में दोगुना से ज्यादा का इजाफा हुआ है। मई 2017 के दौरान देश में सिर्फ 40,17,22,424 डेबिट कार्ड धारक थे लेकिन नवंबर 2017 में यह आंकड़ा 83,28,88,354 तक पहुंच चुका है।

अन्य खबर