पर्यटकों की पहली पसंद है महलों और बगीचों वाला ये शहर
26 Sep 2017
मैसूर एक ऐसा शहर है, जहां ऐतिहासिक इमारतों की देखरेख बहुत शिद्दत से की गई है। यहां मौसम अनुकूल है, लिहाजा पर्यटक खूब पहुंचते हैं। यह भारत के कर्नाटक राज्य का बेहद मशहूर पर्यटन स्थल है। कुछ लोग इसे कर्नाटक की संस्कारधानी भी कहते हैं। यहां देखने लायक कई मनोरम स्थान हैं। मुख्य रूप से यह शहर महलों, बाग-बगीचों और अपनी ऐतिहासिक धरोहरों के लिए जाना जाता है। मैसूर का दशहरा दुनियाभर में प्रसिद्ध है। इस त्योहार पर यहां सबसे ज्यादा पर्यटक आते हैं। मैसूर को महलों और बगीचों का शहर भी कहा जाता है। मैसूर की चामुंडी हिल्स पर 12वीं सदी का चामुंडेश्वरी माता का मंदिर है। इसे दक्षिण भारत की सबसे पवित्र चोटियों में से एक माना जाता है। इस पहाड़ी से शहर का नजारा अद्भुत दिखाई देता है। समुद्र तल से लगभग 1000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल और शहर के सबसे लोकप्रिय स्थानों में से एक है। इस पहाड़ी पर नंदी की एक विशाल प्रतिमा विराजमान है। आकर्षक महल:- मैसूर महलों का शहर भी कहलाता है। यहां कई खूबसूरत और आकर्षक महल हैं। इनमें सबसे मशहूर मैसूर पैलेस है। इसे अम्बा विलास पैलेस भी कहा जाता है। शहर के मध्य में स्थित यह महल पहले वोडेयार महाराजाओं का निवास हुआ करता था, जिसे अब संग्रहालय बना दिया गया है। इसमें वोडेयार महाराजाओं की कई निशानियां संग्रहित हैं। जगनमोहन पैलेस वास्तुशिल्प के लिहाज से जबर्दस्त है। राजेन्द्र विलास और ललिता महल भी मैसूर के प्रमुख दर्शनीय महलों में शुमार हैं। ललिता महल को वर्तमान में होटल में बदल दिया गया है, लेकिन इसे लोग पर्यटन स्थल के रूप में देखने पहुंचते हैं। बाग-बगीचे:- मैसूर की दूसरी खासियत यहां के बाग-बगीचे हैं। वृंदावन गार्डन मैसूर के सबसे अधिक देखे जाने वाले स्थानों में से एक है। मुगल शैली के इस गार्डन को कश्मीर के शालीमार गार्डन की तर्ज पर बनाया गया है। सैलानी इसे म्यूजिकल और डांसिंग फाउंटेन की वजह से पसंद करते हैं। और कहां जाएं:- रेलवे म्यूजियम में भारतीय रेल का 150 साल का इतिहास जान पाएंगे। 245 एकड़ में फैला मैसूर जू भारत के सबसे पुराने चिड़ियाघरों में से एक है। मैसूर से 16 किलोमीटर दूर श्रीरंगपट्टनम है। यहां मशहूर राजा टीपू सुल्तान का महल है। यहां से 125 किमी दूर स्थित प्रसिद्ध हिल स्टेशन ऊटी भी जा सकते हैं। कैसे पहुंचें: मैसूर से सबसे नजदीकी बड़ा शहर बेंगलुरू है, जो यहां से 130 किलोमीटर दूर है। बेस्ट सीजन: यहां की जलवायु सम है, लिहाजा यहां किसी भी मौसम में जा सकते हैं।

अन्य खबर