अतीक-अशरफ हत्याकांड:नैनी जेल में हमलावरों पर जान का खतरा
17 Apr 2023, 146
अतीक-अशरफ हत्याकांड:नैनी जेल में हमलावरों पर जान का खतरा, जानें क्या है इसके पीछे का कारण

प्रयागराज।माफिया से नेता बने अतीक अहमद और उसके भाई पूर्व विधायक अशरफ की शनिवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई।अतीक और अशरफ की हत्या करने वाले तीन हमलावरों को पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश किया।जहां कोर्ट ने 22 वर्षीय लवलेश तिवारी, 23 वर्षीय मोहित उर्फ सन्नी और 18 वर्षीय अरुण मौर्य को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।तीनों को नैनी सेंट्रल जेल के हाई सिक्योरिटी सेल में रखा गया है।मगर इस जेल में तीनों हमलावरों पर मौत का साया मंडरा रहा है।

नैनी जेल थी अतीक का किला था

बता दें कि इन तीनों हमलवारों को जिस नैनी जेल में रखा गया है।उस नैनी जेल में माफिया अतीक अहमद के कई गुर्गे बंद है। अतीक का बेटा अली भी नैनी जेल में बंद है।नैनी जेल को अतीक का गढ़ माना जाता था।जहां से अतीक एक चारदीवारी के अंदर बंद होते हुए भी चाहे तो बाहरी दुनिया में कुछ भी करवा सकता था, जिससे आशंका जताई जा रही है कि अतीक पर हमला करने वाले तीनों हमलावरों की जान को खतरा है।इस वजह से जिस सेल में रखा गया है वह हाई सिक्योरिटी है और वहां सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है।

अतीक और अशरफ की हत्या

बताते चलें कि देश का बहुचर्चित उत्तर प्रदेश के प्रयागराज का उमेश पाल हत्याकांड में माफिया अतीक अहमद के पूरे परिवार को आरोपी बनाया गया था।इसी के तहत कार्रवाई करते हुए यूपी एसटीएफ ने अतीक के बेटे असद और शूटर गुलाम को झांसी में गुरुवार को एनकाउंटर में मार गिराया था। वहीं शनिवार को मेडिकल चेकअप के लिए जब अतीक और अशरफ को ले जाया जा रहा था तभी तीन हमलावरों ने अतीक और अशरफ की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद तीनों आरोपियों ने पुलिस के सामने लाइव कैमरे पर सरेंडर कर दिया, जिसके बाद अदालत ने पेशी के बाद इन हमलावरों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
( न्यूज़ प्रतापगढ़ एक्सप्रेस )

चर्चित वीडियो
अन्य खबर