घर घर विराजे गणपति।
19 Sep 2023, 118
हर घर विराजे गणपति। कानपुर,सिद्धिविनायक भगवान गणेश जी की घर-घर स्थापना आज की गई एवं लोक मंगल की कामना के साथ सभी भक्तों ने अपने सुख और समृद्धि के लिए कामना की आज से भगवान गणेश 10 दिन के लिए स्थापित रहेंगे |

भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी के दिन यानि आज गणेश चतुर्थी पर बप्पा की स्थापना हो चुकी है. जानें 10 दिन गणेश जी की पूजा विधि, मंत्र, नियम और उपाय ,

गणेश चतुर्थी के दिन चंद्रोदय समय सुबह 09.45 से रात 08.44 तक रहेगा. इस दिन चंद्रमा को देखने से झूठा कलंक लगता है, क्योंकि बप्पा ने चंद्रमा को श्राप दिया था कि इस दिन जो चांद के दर्शन करेगा उसे दंड मिलेगा. यही वजह है विनायक चतुर्थी पर चंद्रमा नहीं देखा जाता.|

गणेश उत्सव 10 दिन तक चलता है. गणेश चतुर्थी पर बप्पा का आगमन होता है, मूर्ति स्थापना होती है तो वहीं अनंत चतुर्दशी पर गणेश विसर्जन किया जाता है. इस साल अनंत चतुर्दशी 28 सितंबर 2023 को है, इस दिन बप्पा को विदाई दी जाएगी.

गणेश चतुर्थी की रात बप्पा के सामने चौमुखी घी का दीपक लगाकर ऊं गं गणपतये नम: मंत्र 108 बार जाप करें. मान्यता है ऐसा करने से आपको शिक्षा संबंधी हर परेशानी दूर होती है. बुद्धि में वृद्धि होती है. अगर बच्चा पढ़ाई में कमजोरी है तो उसका मानसिक विकास होता है.

गणेश उत्सव के दौरान हर घर, दुकान, चौक-चौराहों पर गणपति की मूर्ति स्थापित की जाती है. पुराणों में गणेश जी की पीठ के दर्शन करना वर्जित माना गया है. ऐसे में इस दौरान गणेश जी की मूर्ति पीछे से न देखें. मान्यता है कि श्रीगणेश की पीठ पर दरिद्रता का निवास होता है. उनकी पीठ के दर्शन करने पर कंगाल आने लगती है.

चर्चित वीडियो
अन्य खबर