मोदी सरकार ने की किसानों के साथ वायदाखिलाफी: नीतीश

पटना, 12 जून (धर्म क्रान्ति)। बिहार सीएम नीतीश कुमार ने देश के अलग-अलग हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलनों को लेकर पीएम मोदी के खिलाफ सीधा हमला बोला। नीतीश ने कहा कि वर्ष 2014 के चुनाव से पहले भाजपा ने किसानों के मुद्दे पर तमाम वादे किए थे आज किसानों को उनकी उपज की उचित कीमत नहीं मिल रही है। बिहार सीएम ने किसानों के संकट के संबंध में राष्ट्रीय स्तर पर नीति नहीं बनाने के लिए मोदी सरकार की आलोचना की। उन्होंने मंदसौर घटना और महाराष्ट्र के किसान आंदोलनों के संदर्भ में कहा कि कोई समस्या खड़ी होने पर लोन माफ कर देना जैसे उपायों से कुछ देर के लिए तो राहत मिल जाएगी लेकिन कृषि संकट दूर नहीं होगा। नीतीश ने कहा कि किसान संकट का इससे बड़ा प्रमाण क्या होगा कि मराठा, जाट, पाटीदार जैसे समूह जो कभी कृषि क्षेत्र में काफी सशक्त थे आज इतने पिछड़ गए कि आरक्षण की मांग के लिए मजबूर हो गए। बिहार सीएम ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर टिप्पणी को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर भी निशाना साधा। नीतीश ने आगे कहा कि मैं बिहार में कल ही चुनाव कराने को तैयार हूं लेकिन यूपी में भी चुनाव कराइए। यूपी और बिहार के बीजेपी-एनडीए के सांसद-विधायक इस्तीफा दें। अगर हिम्मत है तो ऐसा करें, बिहार में कल ही चुनाव करा दूंगा।