आवश्यक वस्तुओं के दामों में बढ़ौतरी के लिए केन्द्र सरकार और दिल्ली सरकार दोनों सीधे तौर पर जिम्मेदार : अजय माकन

नई दिल्ली, 05 मार्च (धर्म क्रान्ति)। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में भाजपा की केन्द्र सरकार और दिल्ली में आप पार्टी की दिल्ली सरकार के खिलाफ पेट्रोल, डीजल, किरोसिन तेल, एलपीजी तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं के बढ़े दामों को लेकर आज दिल्ली भर में सभी 280 ब्लाक कांग्रेस कमेटियों में प्रदर्शन व प्रदर्शन मार्च किए। अजय माकन ने भाजपा की केन्द्र सरकार और दिल्ली में आप पार्टी की दिल्ली सरकार को रोजमर्रा की वस्तुओं के बढ़े हुए दामों के लिए जिम्मेदार ठहराया। माकन ने कहा कि लोगों को अब यह समझ आ गया है कि कांग्रेस ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में देश में राज चला सकती है। अजय माकन ने कहा कि महंगाई के कारण आज खाने की आवश्यक वस्तुएं लोगों की पहॅुच से बाहर हो गई है जिसके कारण गरीब व मध्यम वर्ग की जिदंगी कठिनाईपूर्ण बीत रही है। यूपीए सरकार और भाजपा की केन्द्र सरकार के समय में आवश्यक वस्तुओं के दामों का तुलनात्मक चार्ट संलग्न है। प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन ने दिल्ली में बाबरपुर जिला के तीसरा पुस्ता, उस्मानपुर में, चॉदनी चौक जिला बारा टूटी चौक सदर बाजार और भगत सिंह चौक, आजाद नगर किशन गंज, व कोहली टैन्ट हाउस दयाबस्ती झुग्गी कालोनी के सामने, ओल्ड रोहतक रोड, नई दिल्ली जिला में गोल मार्किट और सरोजनी नगर, पटपड़गंज जिला में जंगपुरा आश्रम चौक सहित कई जगहों पर प्रदर्शनों का नेतृत्व किया। प्रदर्शनकारियों में प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन के अलावा पूर्व सांसद सज्जन कुमार, महाबल मिश्रा, पूर्व मंत्री हारुन यूसूफ, डॉ. नरेन्द्र नाथ, डॉ. किरण वालिया, अ.भा.क. कमेटी के सचिव तरुण कुमार, पूर्व विधायक भीष्म शर्मा, तरविन्दर मारवाह, हरी शंकर गुप्ता, प्रहलाद सिंह साहनी, सुरेन्द्र कुमार, अनिल भारद्वाज, राम सिंह नेताजी, जिला अध्यक्ष मौहम्मद उस्मान, हरी किशन जिंदल, ओमदत यादव, प्रदीप शर्मा, इन्द्रजीत, विरेन्द्र कसाना, सुनील वोहरा, मदन खोरवाल, राजेश चौहान, लक्ष्मण रावत, चतर सिंह, ओम प्रकाश बिधूड़ी, महमूद जिया, ब्रहम यादव, पूर्व निगम पार्षद सतबीर शर्मा, मेहदी माजिद सभी ब्लाक अध्यक्ष, निगम पार्षद, महिला कांग्रेस, युवा कांग्रेस व सेवादल के हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे। प्रदर्शनकारियो को सम्बोधित करते हुए अजय माकन ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं के दामों में बेहताशा बढ़ौतरी के लिए भाजपा की केन्द्र सरकार और आप पार्टी की दिल्ली सरकार दोनो सीधे तौर पर जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि भाजपा की केन्द्र की सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 11 बार एक्साईज डयूटी बढ़ाई है तथा आप पार्टी की दिल्ली सरकार ने पेट्रोल तथा डीजल पर 3 बार वेट की दरे बढ़ाई है। जिसके कारण 2014 से 2018 के बीच पेट्रोल पर एक्साईज तथा वेट की बढ़ौतरी 95 प्रतिशत हुई है तथा डीजल पर यह बढ़ौत्तरी 208 प्रतिशत हुई है। माकन ने कहा कि आप पार्टी की दिल्ली सरकार दिल्ली में जमाखोरी पर लगाम लगाने में भी असफल रही है जो कि आवश्यक वस्तुओं के दामों में बढ़ौत्तरी का भी एक कारण है। श्री माकन ने कहा कि 2013-14 में अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम 105.52 डालर प्रति बैरल था जो कि अब कम होकर 2016-17 में 47.56 डालर प्रति बैरल पहुच गया है परंतु फिर भी पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे है और अकेले दिल्ली में डीजल 62.88 रुपये और पेट्रोल 72.26 रुपये है। माकन ने कहा कि यदि पेट्रोल और डीजल से एक्साईज तथा वेट (मोदी़+केजरीवाल टैक्स) हटा दिया जाए तो पेट्रोल के दाम 37 प्रति लीटर तथा डीजल के दाम 37.78 रुपये प्रति लीटर हो जाऐंगें। माकन ने कहा कि मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार इसलिए बढ़ा रही है ताकि वे अपने मित्र अडानी ओर अम्बानी की मदद कर सके। श्री माकन ने कहा कि गरीबों को आज 2 वक्त के खाने के लिए भी संघर्ष करना पड़ रहा है उदाहरण देते हुए माकन ने कहा कि जहां 2014 में चावल 21 रुपये प्रति किलो मिलते थे उसके दाम 2018 में 40 प्रति किलो पहुच गए है। माकन ने कहा कि 2014 में किरोसिन तेल जहां 14.96 रुपये प्रति लीटर था वह 2018 में बढ़कर 22.65 रुपये प्रति लीटर हो गया है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार एलपीजी का सिलेंडर भी जो कि 2014 में 414 रुपये था, वह 2018 में बढ़कर 736 रुपये हो गया है। श्री माकन ने कहा कि यद्यपि मोदी ने 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वायदा किया था और केजरीवाल ने प्रतिवर्ष 10 लाख लोगों को रोजगार देने की बात कही थी परंतु दोनो के वायदे झूठे निकले और लोगों को रोजगार देने की बात तो दूर दोनो उल्टे दिल्ली में सीलिंग के द्वारा व्यापारियों व उनके कर्मचारियों के रोजगार और नौकरियां छीन रहे है